आए दिन यूपी से क्राइम की खबरें आती है ऐसे में उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद में एक मां ने पति की मर्डर के बाद देवर से गैरकानूनी संबंधों में बाधक बने अपने छह वर्षीय अबोध बेटे को केवल इसलिए मार डाला, क्योंकि वह उनके बीच का राज जान गया था जी हाँ,  केवल इतना ही नहीं अनुसूचित जाति का होने की वजह से बेटे की मर्डर के मुआवजे के तौर वह साढ़े आठ लाख रुपए भी लेना चाहती थी  इसकी पहली किस्त भी ले चुकी थी लेकिन महिला का राज खुल गया

खबरों के अनुसार इस मामले में मृत बालक प्रिंस की मां ने रंजिशन एक साजिश गढ़ते हुए अपने पारिवारिक विरोधियों को नामजद कर उनमें से एक को कारागार भिजवा दिया था तथा अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार समाधान अधिनियम के तहत मिलने वाली सहायता के लिए आवेदन कर पहली किस्त के रूप में चार लाख रुपए भी गवर्नमेंट से ले लिए थे वहीं इस मामले में पुलिस ने बताया कि गुरुवार को यानी आज इस पूरे मामले का खुलासा हो गया है  उन्होंने बताया कि जब जांच में सभी आरोपी बेगुनाह साबित होते दिखे तो नादान बालक की इरादतन मर्डर की पहेली को सुलझाने के लिए नए सिरे से जांच करवाई  तब संदेह की सुई देवर-भाभी की ओर मुड़ने लगी, जिसे मोबाइल सर्विलांस ने भी बहुत ज्यादा पुष्ट किया

इसी के साथ उन्होंने बताया, ‘उनसे सख्ती से पूछताछ की गई तो पूरी कहानी समझ में आ गई.मामले बेहद चौंकाने वाला था क्योंकि, इसी साल पिता को खो चुके बच्चे की मां ने उसे केवल इसलिए मार दिया, क्योंकि वह उसके और चाचा के बीच के संबंधों का राज जान गया था.‘ आप सभी को बता दें कि आरोपी माँ ने बताया कि ‘मैं घटना वाले दिन अपने देवर के साथ संबंध बना रही थी  उस दौरान मेरा बेटा घर आ गया  उसने देवर को मेरे साथ गन्दी हरकतें करते हुए देख लिया जिसके कारण मैंने  देवर ने उसे मार डाला ‘